खतरे में है 4G LTE नेटवर्क यूजर्स की प्राइवेसी, आसानी से हैक किया जा सकता है डाटा

  • खतरे में है 4G LTE नेटवर्क यूजर्स की प्राइवेसी, आसानी से हैक किया जा सकता है डाटा
You Are HereLatest News
Tuesday, March 26, 2019-6:33 PM

गैजट डेस्कः आज के समय में स्मार्टफोन्स नें जहां जिंदगी को और बिजी कर दिया है वहीं लोगों की प्राइवेसी को भी कहीं न कहीं खतरे में डाल दिया। टेकनॉलजी और हाई-स्पीड इंटरनेट ने दुनियाभर में कम्युनिकेशन को एक नई उड़ान दी है। कई बार हम अपना कुछ जरूरी डाटा स्मार्टफोन में सेव करके रख लेते है पर हमें इस बात का बिल्कुल भी पता नहीं होता कि हमारे प्राइवेट डाटा के साथ छेड़छाड़ हो सकती है। इसमें हालिया उदाहरण 4जी एलटीई मोबाइल नेटवर्क का जुड़ा है। साउथ कोरिया स्थित कोरिया एडवांस इंस्टिट्यूट ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के शोधार्थियों ने बताया है कि 4G नेटवर्क यानी लॉन्ग-टर्म इवोल्यूशन (LTE) में कई बग्स हैं, जो यूजर्स के डाटा और प्राइवेसी के लिए खतरा हो सकती है।"

कोरिया के इन शोधार्थियों ने 'फजिंग'  टेक्नोलॉजी के जरिए 4जी एलटीई नेटवर्क में इन कमियों को उजागर किया था।'फजिंग'  एक कोड टेस्टिंग मेथड है, जिसमें बड़ी संख्या में रैंडम डाटा फीड कर किसी एप्लीकेशन में मौजूद खामियों का पता लगाया जा सकता है। इस टेक्नोलॉजी का यूज कर डेवलपर्स किसी एप्लीकेशन में मौजूद बग (खामियों) पता लगाते हैं। हालांकि, ये पहली बार नहीं है कि 4G नेटवर्क में खामियां सामने आई हैं। इससे पहले भी कई रिसर्चर्स इन बग्स का उल्लेख कर चुके हैं।
PunjabKesari
एंड-यूजर्स को ही होगा  नुकसान​​​​​​​
एलटीई पर मिली इन कमियों से यूजर्स के डेटा को असल मायने में किस प्रकार से नुकसान पहुंचाया जा सकता है इस बारे में रिसर्चर्स ने ज्यादा विस्तार से नहीं बताया। हालांकि उन्होंने माना कि इससे एंड-यूजर्स को ही नुकसान होगा। रिसर्चर्स ने आगे कहा कि इन कमियों की वजह से हैकर्स फोन के नेटवर्क को बंद करने के साथ ही मोबाइल बेस स्टेशन के भी काम में बाधा पहुंचा सकते हैं। इसके अलावा इनकमिंग कॉल्स और मेसेज को भी हैकर्स आसानी से ब्लॉक कर सकते हैं।
PunjabKesari

किसी भी 4G डिवाइस को किया जा सकता है हैक
कोरिया के इन शोधार्थियों ने 4जी एलटीई नेटवर्क में 51 बग्स को उजागर किया है, जिनमें से 36 बिलकुल नए हैं। शोधार्थियों का कहना है कि इन खामियों के चलते किसी भी 4G डिवाइस को हैक किया जा सकता है। शोधार्थियों का यह भी कहना था कि इन कमियों के चलते यूजर्स की प्राइवेसी पर खतरा मंडरा रहा है। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Isha