प्रोफिट का 30 प्रतिशत बचाने के लिए Tinder ने किया Play Store को बाईपास

  • प्रोफिट का 30 प्रतिशत बचाने के लिए Tinder ने किया Play Store को बाईपास
You Are HereLatest News
Saturday, July 20, 2019-3:45 PM

गैजेट डैस्क : डेटिंग एप Tinder ने प्रोफिट का 30 प्रतिशत हिस्सा बचाने के लिए यूजर्स से सीधी क्रैडिट कार्ड डिटेल्स मांगनी शुरू कर दी हैं। Tinder एप के नए पेमेंट प्रोसैस के तहत एप का उपयोग करते समय पेमेंट के लिए क्रैडिट कार्ड डिटेल्स देनी पड़ेगी जोकि एप में ही सेव रहेगी। 

  • ऐनालिस्ट Ben Schachter ने बताया है कि यूजर जब इसमें पेमेंट इनफोर्मेशन को एंटर करते हैं तो पहले गूगल पे के जरिए पेमेंट की जा सकती थी, लेकिन अब कम्पनी ने गूगल पे की ऑप्शन को ही रिमूव कर दिया है ताकि सारा प्राफिट टिंडर की ही जेब में जाए। 

ऐसा क्यों कर रही Tinder

टिंडर एप का इस्तेमाल करते समय एंड्रॉयड ट्रांजेक्शन के लिए अगर आप प्ले स्टोर या गूगल पे का इस्तेमाल करते हैं तो टिंडर को प्रोफिट का 30 प्रतिशत हिस्सा गूगल को देना पड़ता है। आपको बता दें कि टिंडर एप में मौजूद Tinder Gold और Tinder Plus फीचर्स का उपयोग करने के लिए आपको पैसे खर्चने पड़ते हैं, लेकिन टिंडर एप की पेरेंट कम्पनी Match Group ने यूजर्स को सीधे ही पेमेंट के लिए क्रैडिट कार्ड का इस्तेमाल करने को कहा है। 

पिछले साल भी सामने आया था इसी तरह का मामला

आपको बता दें कि लोकप्रिय वीडियो गेम डिवैल्पर Epic Games ने पिछले साल PUBG मोबाइल को टक्कर देने वाली गेम Fortnite को लॉन्च किया था, लेकिन इसे प्ले स्टोर की बजाए कम्पनी ने अपने डाउनलोडेब्ल लाउंचर पर ही उपलब्ध किया था ताकि गूगल को प्रोफिट का 30 प्रतिशत देना ना पड़े। 

कम्पनी का बयान

मैच ग्रुप कम्पनी के प्रवक्ता Justine Sacco ने अपने बयान में कहा है कि यूजर्स की सहुलियत के लिए हम एप में अपडेट्स और फीचर्स को शामिल करते हैं। हम चाहते हैं कि यूजर्स आसानी से पेमेंट्स कर सकें। क्रैडिट कार्ड की जानकारी सेव करने के बाद आप एप में जो भी खरीदना चाहतें हैं उसको लेकर आसानी से पेमेंट कर पाएंगे, लेकिन असल में टिंडर गूगल को नजरअंदाज कर यूजर्स से पेमेंट करवा रही है और गूगल के हिस्से का प्रोफिट खुद ही बचा रही है। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh