Twitter Trendings Topics भरा पड़ा है पॉर्न कंटेंट से !

  • Twitter Trendings Topics भरा पड़ा है पॉर्न कंटेंट से !
You Are HereGadgets
Thursday, August 22, 2019-5:07 PM

गैजेट डेस्क : अभी तक फेसबुक और इंस्टाग्राम सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर ही बॉट एकाउंट्स के ज़रिये अश्लील पॉर्न कंटेंट कंटेंट को परोसा जा रहा है। आम तौर पर ट्रेंडिंग चीज़ो के लिए स्पैम एकाउंट्स में औरतों की बिकनी पहने जैसी अश्लील तस्वीरें है वह भी अश्लील शब्दों के # हैशटैग के साथ। ट्विटर पर जब आप इनको ट्रेंडिंग टॉपिक्स में सर्च करेंगे तो इसे पाएंगे। 


Engadget की एक एक्सक्लूसिव रिपोर्ट के अनुसार यह स्पैम्स तब सामने आते है जब यूज़र ट्विटर के Trending सेक्शन के Top टैब पर क्लिक करता है। यहाँ और बुरे तौर पर पॉर्न कंटेंट की भरमार देखी जा सकती है। जैसे ही यूज़र ने क्लिक तभी उसको मैं पॉर्न साइट पर रिडाइरेक्ट कर दिया जाता है जहाँ उसकी अकाउंट क्रिएशन या न्यूड वीडियो , पिक्चर्स एक्सेस करने के नाम पर निजी जानकारियाँ जैसे - ईमेल आईडी  , उम्र  , लोकेशन और क्रेडिट कार्ड नंबर माँगा जाता है। 


 

Engadget की रिपोर्ट में ट्विटर पॉर्न कंटेंट पर क्या विस्तृत खुलासा हुआ है ?

 

Image result for twitter porn

 

Engadget  रिपोर्ट में कहा गया है, "सभी ट्विटर एकाउंट्स अगस्त में बनाए गए थे और उन्होंने पॉर्न वेबसाइट्स को बढ़ावा देने के लिए ऐप के 'पिनड ट्वीट' फीचर का इस्तेमाल किया था।"


उदाहरण के लिए, हैंडल @calvi_anna वाले एक बॉट अकाउंट ने कहा: "मेरा व्हाट्सएप प्रोफाइल साइट पर है, मेरे बारे में जानकारी लीजिये ,मुझे कॉल करें। एक इजी रजिस्ट्रेशन के बाद मुफ्त में मेरे निजी वीडियो देखें।"


इस लिंक पर क्लिक करने के बाद आप मेन पॉर्न वेबसाइट पर रिडाइरेक्ट कर दिए जाते हैं। जहाँ पर पॉर्न वीडियोज़ और न्यूड इमेज गैलरी के स्निपपेट्स के ज़रिये यूज़र्स के अंदर कामुकता को जन्म दिया जाता है ताकि वह खुद पर नियंत्रण न कर सके और ऐसे ही अपनी निजी जानकारी फ्री के पोर्न कंटेंट की लालच में देकर दे बैठें। यदि प्रीमियम कंटेंट ऑफर जाता है तो भी लोग अपने पैसे बर्बाद करने से पीछे नहीं हठते हैं।

 

Image result for twitter porn


रिपोर्ट में कहा गया है कि यह पॉर्न साइड इफ़ेक्ट का प्रसारित करने का वर्क मॉडल पूरी तरीके से इंस्टाग्राम की तर्ज पर ही काम करता है जहाँ कमेंट्स सेक्शन का इस्तेमाल किया जाता है। ट्विटर ने एक बयान में कहा कि यह सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत की जा रही है कि इस प्रकार का स्पैम सर्च रिजल्ट्स या मेसेजेस में प्रकट न हो।

 

"कभी-कभी ट्विटर का फ़िल्टर अल्गोरिथम यह इन संदिग्ध बोत एकाउंट्स को फ़िल्टर करना भूल सकता है और जब ऐसा होता है, तो लोगों के पास खुद से इन एकाउंट्स को रिपोर्ट करने का विकल्प होता है," ट्विटर ने एंगडैज को बताया। बता दें कि ट्विटर में पॉर्न साइड इफ़ेक्ट का यह व्यापक असर तब सामने आया जब इसका यह फीचर खुद ही जाँच के दायरे में है। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Harsh Pandey