खतरनाक यूज़र्स को ट्रैक कर रही फेसबुक

  • खतरनाक यूज़र्स को ट्रैक कर रही फेसबुक
You Are HereGadgets
Sunday, February 17, 2019-11:10 AM

गैजेट डैस्क : काफी समय से फेसबुक का समय बहुत अच्छा नहीं चल रहा है। इसी बात पर ध्यान देते हुए कम्पनी खतरनाक यूज़र्स पर एक्शन लेने की तैयारी में है। रिपोर्ट में बताया गया है कि फेसबुक उन यूज़र्स की एक्टिविटी को रिकॉर्ड कर रही है जिन्हें वह फेसबुक व कम्पनी के कर्मचारियों के लिए खतरा मानती है। इस दौरान यूज़र की लोकेशन को भी ट्रैक किया जाता है, वहीं पता लगाया जाता है कि कौन से यूज़र्स कम्पनी के खिलाफ लिखते हैं व धमकी भरे मैसेजिस पोस्ट करते हैं। 

PunjabKesari

रियल टाइम लोकेशन को जुटा रही फेसबुक

फेसबुक के पूर्व सुरक्षा कर्मचारी ने बताया है कि ट्रैकिंग तभी की जा सकती है जब यूज़र कम्पनी की 'Be On the Lookout'(BOLO) लिस्ट में शामिल होता है। सी.एन.बी.सी. की रिपोर्ट के मुताबिक फेसबुक खतरनाक यूज़र्स को लेकर अपने ढांचे की मदद से रियल-टाइम लोकेशन और आईपी अड्रैसेज जुटाता है। फेसबुक के प्रवक्ता एंथोनी हैरिसन ने बताया है कि कम्पनी की फिजीकल सिक्योरिटी टीम चाहती है कि उसके कर्मचारी सुरक्षित रहें और इसीलिए वह यूज़र्स की गोपनीयता की रक्षा के लिए सख्त कदम उठा रही है।

PunjabKesari

कुछ कर्मचारी सहमत व कुछ नहीं

आपको बता दें कि कम्पनी के कुछ पुराने कर्मचारी इस फैसले से पूरी तरह सहमत हैं, वहीं कुछ इसे यूज़र्स पर पूरी तरह नियंत्रण पाने वाला कदम बता रहे हैं। फेसबुक का फर्ज है कि वह खतरे पैदा करने वाली पोस्ट्स से निपटने की कोशिश करे ताकि यूज़र्स को फेसबुक चलाते समय सुरक्षित अनुभव हो। 

PunjabKesari

क्या है फेसबुक की BOLO लिस्ट 

फेसबुक की BOLO लिस्ट को वर्ष 2008 में शुरू किया गया था और कम्पनी इसे हर हफ्ते अपडेट करती रहती है। रिपोर्ट के मुताबिक इस लिस्ट में सैंकड़ों यूज़र्स शामिल किए गए हैं और इनकी रिपोर्ट को कम्पनी सिक्योरिटी प्रोफैशनल्स को भेजती है। इसमें खतरनाक यूज़र का नाम और फोटो जैसे डिटेल्स शामिल होते हैं, वहीं यह भी बताया जाता है कि इन्हें BOLO लिस्ट में शामिल करने का क्या कारण था। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Hitesh