जानिये दुनिया के पहले डिजिटल कैमरा के बारे में

  • जानिये दुनिया के पहले डिजिटल कैमरा के बारे में
You Are HereGadgets
Monday, September 9, 2019-5:10 PM

गैजेट डेस्क : फोटोग्राफी के शौकीन लोग महंगे-से-महंगे कैमरे खरीदते हैं। चाहे वो सालों पहले की बात हो या आज के डिजिटल युग की। कैमरे के प्रति लोगों का क्रेज हमेशा बढ़ा ही है। पहले जहां ब्लैक & वाइट फोटोज़ खींचने वाले कैमरे आते थे तो वहीँ अब डिजिटल कैमरे बाजार में रंगीन तस्वीरें लेते हैं। कैमरे की मदद से हमारे जीवन के विशेष क्षणों को तस्वीरों के रूप में कैद किया जाता है।

 

फोटोग्राफी की दुनिया हुआ बदलाव 

 

Related image

 

सालों पहले जहां रीलों का इस्तेमाल कैमरों में किया जाता था अब डिजिटल कैमरों ने फोटोग्राफी की दुनिया में क्रांति ला दी है। सबसे पहले सन 1975 में ईस्टमैन कोडक के स्टीवन सैसन नामक एक इंजीनियर ने दुनिया का पहला डिजिटल कैमरा बनाने का प्रयास किया। स्टीवन सैसन का कैमरा पहले एक डिजिटल स्टेन स्नैपर के रूप में पहचाना जाता था।

 

यह थे स्पेशल फीचर्स 

 

Related image

 

कैमरा ने तत्कालीन फेयरचाइल्ड सेमीकंडक्टर तकनीक द्वारा विकसित सीसीडी इमेज सेंसर के साथ इस्तेमाल किया गया।कैमरे का वजन लगभग चार किलोग्राम था। इस कैमरे में ब्लैक एंड व्हाइट तस्वीरें ली गईं। कैमरे का रिज़ॉल्यूशन 0.01 मेगा पिक्सेल था। इस कैमरे को दिसंबर 1975 में पहली डिजिटल तस्वीर रिकॉर्ड करने में 23 सेकंड का समय लगा।

 

1991 में ईस्टमैन कोडक कंपनी ने डिजिटल कैमरा बेचना शुरू किया, जिसके बाद एप्पल कंप्यूटर और ईस्टमैन कोडक ने इसका पहला उपभोक्ता मॉडल पेश किया। इसे वर्ष 1994 में पेश किया गया था। दोनों कंपनियों ने मिलकर एक सॉफ्टवेयर पेश किया जिसके माध्यम से डिजिटल कैमरा के साथ ली गई तस्वीर को कंप्यूटर में ट्रांसफर किया जा सकता था। 


यहाँ आप निःशुल्क रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं, भारत मॅट्रिमोनी के लिए!Edited by:Harsh Pandey